when Chandrayaan 3 will be launchedचांद पर पहुंचेंगे हम, जानें कब लॉन्च होगा चंद्रयान 3 … ऐसा करने वाला चौथा देश बन सकता है

when Chandrayaan 3 will be launched




भारत और दुनिया की निगाहें चंद्रयान 3 पर टिकी हैं

चंद्रयान और चंद्रयान 2 के बाद अब भारत और दुनिया की निगाहें चंद्रयान 3 पर टिकी हैं। न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भारत का चंद्रयान-3 13 जुलाई को दोपहर 2.30 बजे लॉन्च किया जा सकता है। हालांकि, इसरो चीफ एस सोमनाथ ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि इसे 12 जुलाई से 19 जुलाई के बीच लॉन्च होना है।

यान पूरी तरह तैयार है। सारे टेस्ट पूरे हो जाने के बाद लॉन्चिंग की सही तारीख की घोषणा की जाएगी। अगर चंद्रयान-3 का लैंडर चांद पर उतरने में सफल होता है तो भारत ऐसा करने वाला चौथा देश बन जाएगा। इससे पहले अमेरिका, रूस और चीन चंद्रमा पर अपने स्पेसक्राफ्ट उतार चुके हैं।

IGKV के छात्रों का बढ़ा आर्थिक बोझ, लगातार दूसरे साल फीस में की बेतहाशा बढ़ोत्तरी … देखें पूरी लिस्ट





चंद्रयान-2 मिशन को 22 जुलाई 2019 को लॉन्च किया गया था। करीब 2 महीने बाद 7 सितंबर 2019 को भारत वासियों का दिल टूट गया और सारी उम्मीदें खत्म हो गई जब चंद्रमा के साउथ पोल पर उतरने की कोशिश कर रहा विक्रम लैंडर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसके बाद से ही भारत चंद्रयान-3 मिशन की तैयारी में जुट गया था।

एक माह पहले सील किया गया था यह होटल, अब वहां हो रहा था ऐसा काम कि …. पुलिस को देख छूटे पसीने, भाग निकले प्रेमी जोड़े …

भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है

यह भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है और एक उभरती हुई शक्ति के रूप में भारत की स्थिति के लिए इसके कई निहितार्थ हैं। सबसे पहले, चंद्रयान-3 की सफलता भारत की तकनीकी कौशल और जटिल और चुनौतीपूर्ण अंतरिक्ष अभियानों को शुरू करने की क्षमता को प्रदर्शित करेगी। इससे एक अग्रणी अंतरिक्ष यात्री राष्ट्र के रूप में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ेगी और वैश्विक मंच पर इसकी नरम शक्ति को बढ़ावा मिलेगा।

दूसरा, चंद्रयान-3 भारत को चंद्रमा और उसके संसाधनों की बेहतर समझ हासिल करने में मदद करेगा। इस ज्ञान का उपयोग नई प्रौद्योगिकियों को विकसित करने और चंद्र खनन और अन्य वाणिज्यिक गतिविधियों की संभावनाओं का पता लगाने के लिए किया जा सकता है।

हर कहानी सूर्यवंशम की तरह नहीं होती ! पत्नी को पढ़ाने झोंक दी जीवन भर की जमा पूंजी, अब SDM बनने के बाद पति को दे रही तलाक … फेसबुक फ्रेंड से लड़ाने लगी इश्क

तीसरा, चंद्रयान-3 अन्य अंतरिक्ष यात्रा करने वाले देशों के साथ भारत के सहयोग को मजबूत करेगा। भारत पहले ही चंद्रयान-2 मिशन पर नासा के साथ सहयोग कर चुका है और चंद्रयान-3 की सफलता से अन्य देशों के साथ साझेदारी को आगे बढ़ाया जा सकता है।

कुल मिलाकर, चंद्रयान-3 मिशन एक उभरती हुई शक्ति के रूप में भारत की स्थिति में महत्वपूर्ण योगदान देने की क्षमता रखता है। भारत की तकनीकी शक्ति का प्रदर्शन करके, उसकी सॉफ्ट पावर को बढ़ाकर और अन्य अंतरिक्ष यात्रा करने वाले देशों के साथ अपने सहयोग को मजबूत करके, चंद्रयान -3 भारत को वैश्विक अंतरिक्ष समुदाय में अग्रणी भूमिका निभाने में मदद कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

महाभारत के श्रीकृष्ण ने IAS पत्नी के खिलाफ कराई एफआईआर स्त्री की इस चीज पर मरते है पुरुष… 200 पार जाएगा यह शेयर, मालामाल हो सकते हैं आप ब्रह्मांड का बर्फीला चंद्रमा मिल गया, सतह में छिपा है विशालकाय महासागर खाटू श्याम बाबा की कहानी… इस वजह से Shri Khatu Shyam Baba ji को कहते हैं हारे का सहारा