भ्र्ष्टाचार का केंद्र कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति गिरीश चंदेल की करतूतों वाली छात्रवृति, छात्रों ने लगाए आरोप

रायपुर। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में जहाँ छात्रों के उत्पीड़न के लगातार मामले जारी है। इसी संदर्भ में विश्वविद्यालय ने पीएचडी की अध्येताओं की छात्रवृति से खिलवाड़ होना जारी है। फाइनेंस सीट के विद्यार्थियों को पूर्ण राशि प्रदान की जा रही है। वहीं मेहनत परिश्रम के पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों को अनीति पूर्वक दबाव डालकर उनकी छात्रवृत्ति को रोककर उन्हें उच्च शिक्षा से बाहर किया जा रहा है और दबाव डाला जाता है। फाइनेंस सीट के विद्यार्थियों की फीस को छात्रवृत्ति देकर रिकवरी अच्छे से हो पाए उसलिये इन्होंने उन्हें प्रथम प्राथमिकता रखकर उन्हें तव्वजो देकर अनुसंधान कार्यो में विशेष सहयोग और बल दिया जाता है। छात्र नेताओं ने इसे लेकर आरोप लगाए हैं।

प्रदेश सचिव सुजीत सुमेर ने कहा कि सरकारी फीस के छात्रों के लिए तिरस्कार एवं अनेक अकादमिक राजनीतिक तर्कों तरीको से डिग्री पर सवाल जवाब और समय का नुकसान करके अच्छे छात्रों के भविष्य का सौदा किया जा रहा है और डिग्री समय मे पूर्ण नही की जाती है। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में अनेक छात्रों ने डिग्री परेशान होकर मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना और अमानवीयता के चरम सीमा को सहकर छोड़ी है।

जेल के ताले टूट गए, हेमंत पाल और कुणाल दुबे छूट गए: NSUI नेताओं की रिहाई पर समर्थकों ने कुछ इस तरह मनाया जश्न

विश्ववविद्यालय में 5000 रुपये राशि पीएचडी स्कॉलर को देने का प्रावधान है। इस प्रावधान का फायदा अन्य प्रदेश और भाई भतीजा वाद के कार्यकर्ता के विद्यार्थी ज्यादा उठा रहे है वे कोर्स वर्क करके भारत के दूसरे स्थान में रहकर 10000 रुपये की राशि मे प्रतिमाह छत्तीसगढ़ शासन के पैसे का लाभ ले रहे है। छत्तीसगढ़ के कुलपति गिरीश चंदेल लगातार धांधली की प्रथम अवस्था मे आकर अब छात्रों की राशि का बंदरबाट कर रहे है और अकादमिक प्रताड़ना के स्तर को अमलीजामा पहनाने में लगे है।

RAIPUR IGKV में बड़ा हादसा: हॉस्टल में गिरी भ्रष्टाचार की छत, बाल-बाल बचे छात्र, छात्रों का जीवन भगवान भरोसे

फाइनेंस सीट पर विद्यार्थियों पर खर्चा करना यूनिवर्सिटी के पैसे का दोहन है। इस पर जांच करना चाहिए । कुलपति के समस्त गतिविधियों पर अब आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो के संस्थान को कार्यवाही करने की आवश्यकता है। जो कुलपति छात्रों की छात्रवृति समय पर नही दे पा रहा है तो उसकी कार्यशैली पर सवाल खड़े होते है।

कुलपति के निज सचिव ने दी ABVP स्थापना दिवस की बधाई, IGKV में मना कार्यक्रम, छात्रों ने कसा तंज

संविधान सम्मत कार्यप्रणाली पर कुलपति गिरीश चंदेल की शिक्षा निर्माण नियुक्ति पदस्थापना टेंडर प्रक्रिया एवं छात्र की उन्नति के माध्यम पर छत्तीसगढ़ राज्य के समाज मे रोष है। अतः कृषि के समकालीन समुत्तथान की गलतियों का परिमाण का परिणाम किसानों को भुगतना पड़ेगा।

अनुसन्धान के कार्यो में छात्रों की अनगिनत समस्याओं के समाधान के लिए कुलपति के पास ठेकेदार की व्यवस्था नही है। अतः छात्रवृत्ति और अनुसंधान का स्तर पर बारीकी से अध्ययन करने पर कुलपति की भ्र्ष्टाचार नीतियों पर कार्यवाही करना जरूरी है।

तिलक के पहले 6 बच्चों के पिता इरशाद मंसूरी संग भागी दुल्हन, होने वाला पति करता रहा इन्तजार इधर दुल्हन हुई फरार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

महाभारत के श्रीकृष्ण ने IAS पत्नी के खिलाफ कराई एफआईआर स्त्री की इस चीज पर मरते है पुरुष… 200 पार जाएगा यह शेयर, मालामाल हो सकते हैं आप ब्रह्मांड का बर्फीला चंद्रमा मिल गया, सतह में छिपा है विशालकाय महासागर खाटू श्याम बाबा की कहानी… इस वजह से Shri Khatu Shyam Baba ji को कहते हैं हारे का सहारा