चुनाव से पहले IGKV रायपुर में RSS की बैठक पर बवाल: छात्र नेता ने मोहन भागवत को छात्रावास में दिया आमंत्रण, सुजीत सुमेर के इस सोशल मीडिया पोस्ट से समझें पूरा मामला 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव से पहले राजधानी रायपुर के IGKV में भारी हंगामा हुआ।  रविवार देर रात ABVP ने मतदान के लिए जागरूकता लाने एक रैली निकाली थी जो IGKV के सुंदरम हॉस्टल भी पहुंची।  छात्रों का  कहना है कि यहां न सिर्फ रैली निकाली गई बल्कि आरएसएस की बैठक भी आयोजित की गई थी। ABVP छात्रों के हॉस्टल पहुँचने के दौरान अप्रिय स्थिति बन गई। गहमा-गहमी के बीच किसी बड़ी घटना का भी अंदेशा लगाया गया जिसे लेकर प्रबंधन से इस मामले में शिकायत की गई।  लेकिन प्रबंधन ने छात्रों को साधारण मामला बताकर  शांत रहने कहा। इस मामले के बाद IGKV छात्र नेता सुजीत सुमेर ने अपने सोशल मीडिया के माध्यम से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को सुंदरम छात्रावास के कमरा नंबर 220 में निमंत्रण दिया है। अपने सोशल मीडिया पोस्ट में सुजीत सुमेर ने  जो लिखा वह बेहद गौर करने वाला विषय है। 

महात्मा गाँधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय का शर्मनाक रिजल्ट, प्रथम वर्ष में 90 प्रतिशत और दूसरे वर्ष में 75 प्रतिशत से ऊपर छात्र हुए फेल, विश्वविद्यालय पर उठे गंभीर सवाल …

सुजीत सुमेर की पोस्ट के मुताबिक-  बैठक तो लंबे समय से चल रहा है आपत्ति का विषय हरेक की मनोभावना के अनुकूल  राजनीतिगत हो सकता है। पर अकादमिक गतिविधियों में संलिप्त छात्रों के मानसिकता का दोहन जब भीड़ में हो फिर लगातार भीड़ का स्वरूप बदले जो कभी जागरूकता का पर्चा बांटने पर जोर देने के बजाए उत्तेजना का काम करे फिर आक्रामक भीड़ अनुत्तेजक रूप में अनेक स्वार्थहित को साधे जिसमे साम्प्रदायिक सद्भाव का अनुशासन भंग हो और भाजपा का प्रचारित अंग बने यह भारत के किसी भी प्रदेश में या किसी भी विश्वविद्यालय में यह होना उसके अनुशासन का भंग होना है और साथ मे प्रशासन का सहयोग होना अनेक गतिविधियों में जो छात्रों के भविष्य  नवनिर्माण को अवरुद्ध करे वह सदैव प्रशासन संविधान के विरुद्ध है। विश्वविद्यालय में जागरूकता रैली और सामाजिक उन्नयन की गतिविधियां केवल राष्ट्रहितों में राष्ट्रीय सेवा योजना में निहित है किंतु उसको भी  संचालन निष्पादित करने में स्वार्थहित किया जाये इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में और संघिकरन किया जाए तो छात्र की गतिविधियां राजनीतिक स्वरूप लेती है। सीधी बात यह है कि संघ के कुछ अनैतिक शैली में प्रतिभा को अवरुद्ध करने के लिए छात्रों की नैतिक गतिविधियों को रोका जाना और उनकी उन्नति में असहयोग करना छात्रहित के अंतिम छात्र की प्रतिभा को चरस पिलाने के समान है। रैली का प्रयोजन समाप्ति के पश्चात एक अज्ञात आदमी जिसे आरएसएस का सामाजिक कार्यकर्ता की संज्ञा भीड़ ने दी थी  उसके साथ के रूप में भीड़ का शामिल होकर आक्रामक शैली में अज्ञात संदिग्धों के साथ प्रवेशित होना छात्रावास भीड़ प्रहार  जैसे गतिविधियों से प्रेरित लगा ।

सारडा एनर्जी में मिला था अनुमति से 19 हजार टन अधिक कोयला, खनिज विभाग ने आगे नहीं की कार्रवाई

सभी छात्रा और छात्र यहाँ अपने अभिभावकों की अनेक महत्वाकांक्षी सकारात्मक योजना औऱ उसकी उपयोगिता को सिद्ध करने आये है इनकी सुरक्षा और उन्नयन जरूरी है। सुन्दरम बालक छात्रावास में राष्ट्रीय एकीकरण एकता को  सामंजस्य के साथ निवासित छात्र है ऐसी गतिविधियों से असुरक्षा की भावना उत्पन्न होती है । खैर छात्रगण जो लड़के है उनको किसी बॉडीगार्ड की जरूरत नही फिर भी आक्रामक आगरूपी निःशांत भीड़ की कोई सूरत नही होती है।


चूंकि मेरा आरम्भिक छात्रजीवन इसी छात्रावास में है आज पर्यंत तक तो इस प्रकार की गतिविधियों के सम्बंध में सदैव प्रशासन को अवगत कराना मेरा छात्रहितकर्तव्य  है ।
आगे भी मैं सुझाव के रूप में सचेतक रूप में अनेक गतिविधियों की संलिप्तता प्रशासन को सौंप कर इंदिरागांधी कृषि विश्वविद्यालय की गतिविधियों को उत्कृष्ट बनाने का प्रयास करते रहूँगा।

मैं अपनी प्रणीति भारत माता को अर्पित करता हु भारत की एकता सम्प्रभुता और सहिष्णुता और संविधान को मजबूत बनाने में युवा सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा।

मैं सादर मोहन भागवत जी संघ प्रमुख जी को इस शिक्षा के मंदिर में जहां शिक्षा के मंदिर में ज्ञान की अविरल धारा में जहां से कृषि समुन्नत की बयार चलती है वहाँ छात्रपक्ष की सुरक्षा को सेंध भी लगती है आपके संघीय कार्यप्रणाली से मेरे पास अनेक साक्ष्य है जिससे यह प्रमाणित भी होता है कि संघ की भूमिका छात्रहितैषी नही है और छात्र को अवनीति कर रही है और उसकी शारीरिक मानसिक नैतिक और संविधान का दोहन कर जानहानि तक हो रही है।

सदैव मैं कहता रहूँगा यह शिक्षा का मंदिर है संदिग्ध गतिविधियों का अड्डा नही!!! छत्तीसगढ़ के गरीब किसानों के बच्चों का भविष्य बनाया जाता है । राष्ट्रीय एकता को मजबूत किया जाता है शिक्षा के क्षेत्रों में उन्नति के लिए।

मैं पुनः आप सभी से कहूंगा अपील करूंगा यह परिचायक  है जो देश की अच्छी गतिविधियों को शिक्षा के क्षेत्र में अनेक छात्रों को प्रभावित कर रहा है।  सर्वांगीण विकास के बजाए चापलूसी की आपराधिक चपलता से उन्नति करने का साधन बन चुका है।

कुलपति माननीय Dr-Girish Chandel sir से अनुरोध करता हु कल से आपके जितने साथी सहयोगी जो विश्वविद्यालय में संघ के पृष्टभूमि के साथ संलिप्तता है उनको आप इन गतिविधियों में लगातार संलिप्त रखे और प्रमुखता से छात्रहितों का हनन चिंतित मनन के साथ कर संघ से सम्बंधित छात्रों का #सूर्य  #भानु #रवि #धनंजय की #प्रशांत युगल नयनो से अवमूल्यन की पराकाष्ठा में यति,गति,तुक,लय को  आत्म इंद्रित कर विश्वविद्यालय को महान कार्य से आत्मबल के लिए आत्म भर्त्सना के साथ संघ को जानकारी दे।

अगली मीटिंग के लिए मैं संघ प्रमुख आदरणीय मोहन भागवत जी को व्यक्तिगत रुप से अपने सुन्दरम छात्रावास में रूम नम्बर 220 में  सात्विक मन के साथ आमंत्रण देता हूं। आदरणीय जी के अनुमति के लिए मेरे आदरणीय अधिष्ठाता छात्र कल्याण Dr-Sanjay Sharma sir

से मैं सादर अनुरोध करूंगा कि मुझे सकारात्मक हित के लिए सहयोग करें । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

महाभारत के श्रीकृष्ण ने IAS पत्नी के खिलाफ कराई एफआईआर स्त्री की इस चीज पर मरते है पुरुष… 200 पार जाएगा यह शेयर, मालामाल हो सकते हैं आप ब्रह्मांड का बर्फीला चंद्रमा मिल गया, सतह में छिपा है विशालकाय महासागर खाटू श्याम बाबा की कहानी… इस वजह से Shri Khatu Shyam Baba ji को कहते हैं हारे का सहारा