What'sTheNews

⠀⠀एक कदम स्वतंत्रता की ओर…

नितिन गडकरी रविवार को करेंगे देश के पहले प्राइवेट एलएनजी पंप का उद्घाटन

हमारा देश पिछले कुछ वर्षों से काफी तरक्की कर रहा है। एक तरफ जहां देश में पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं वहीं केंद्र सरकार पेट्रोल/डीजल के अन्य उपाय अपनाने पर जोर दे रही है। इसी क्षेत्र में सरकार एक और बड़ा काम करने जा रही है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी रविवार को नागपुर के विहिर गांव में देश के पहले प्राइवेट एल एन जी पंप लोकार्पण करेंगे। सरकार का कहना है इससे न सिर्फ ट्रांसपोर्ट क्षेत्र में क्रांति होगी बल्कि प्रदूषण और ईंधन के खर्चे में भी भारी कमी आयेगी।

 

देश का 80 प्रतिशत यातायात और 50 प्रतिशत आवागमन वाहनों पर ही निर्भर है। भारत में डीजल का उपयोग पेट्रोल की तुलना में सात गुना अधिक उपयोग किया जाता है। देश में बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए और पेट्रोल और डीजल की निर्भरता कम करने के लिए 2019 में नितिन गडकरी ने डीजल मुक्त विदर्भ का नारा दिया था। इलेक्ट्रिक, सीएनजी और एलएनजी को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे आने वाले समय में पेट्रोकेमिकल और कच्चे तेल के आयात पर लगने वाला 40000 करोड़ रूपए बचाया जा सकता है। अभी सीएनजी को बढ़ावा देने के लिए सार्वजनिक बस और ट्रैक्टर के ऊपर ध्यान केंद्रित किया जा रहा था मगर अब कहां जा रहा है कि भविष्य में सीएनजी से ज्यादा एलएनजी पर जोड़ दिया जाएगा।

क्या है एलएनजी?

एलएनजी एक द्रवित प्राकृतिक गैस है जिसे माइनस 162 सेंटीग्रेट पर क्रायोजेनिक तकनीक द्वारा द्रविकृत किया जाता है। रंगहीन तथा गंधहीन एलएनजी पर्यावरण अनुकूल ईंधन है जो बिल्कुल भी विषैला नहीं है। हाईवे किनारे स्टेशन बनाकर ट्रकों व बसों को प्राकृतिक गैस से चलाया जाएगा। कहा जाता है कि एलएनजी की प्रकृति ठंडी होती है जो लंबे समय तक चलने वाले वाहनों के लिए ज्यादा बेहतर मानी जाती है। ये डीजल से 30 से 40 फीसदी सस्ती होती है।

 

 

Translate »