What'sTheNews

⠀⠀एक कदम स्वतंत्रता की ओर…

नप गए युवक पर हाथ उठाने वाले सूरजपुर कलेक्टर, सीएम में कहा फौरन पद मुक्त करें

सूरजपुर में घर से दवाई लेने निकले युवक को थप्पड़ मारना और उसका मोबाइल तोड़ना कलेक्टर रणवीर शर्मा को काफी महंगा पड़ा। इस मामले को ज्यादा बढ़ते देख सीएम भूपेश बघेल ने कलेक्टर को पद मुक्त कर दिया और तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दे दिए। दरअसल कल सूरजपुर कलेक्टर रणवीर शर्मा दौरे पर निकले थे और खुद खड़े होकर लॉक डाउन का पालन करवा रहे थे। मगर उनका अभद्र रवैया ऐसा था कि रोकने वाले सभी लोगों पर पुलिस को आदेश देकर डंडों से पिटवा रहे थे। तभी एक युवक को पुलिस ने रोका और उसे मारने लगे। इसके बाद उसने दवाई की पर्ची दिखाई। कुछ देर बाद कलेक्टर रणवीर ने उससे उसका मोबाइल मांगा और पटक कर तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस वालों से कहने लगे ” देख रहे हो रिकॉर्डिंग कर रहा है मारो, मारो, मारो। इतना कहते ही सभी पुलिस वाले युवक पर लाठी डंडों से बरसात करने लगे। इस घटना का वीडियो इतनी तेजी से वायरल हुआ की बात सीएम तक पहुंची और इन्होंने कलेक्टर को फौरन पद मुक्त करने का निर्देश दे दिया। सीएम ने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा –

“सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।

किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूँ। मैं नवयुवक व उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूँ।”

घटना के कुछ समय बाद कलेक्टर ने अपनी छवि को साफ करने के लिए एक वीडियो भी जारी किया जिसमे उन्होंने कहा – ” मैं लॉक डाउन का पालन करवा रहा था, मैने अपना आपा खो दिया मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था। इस के लिए मै काफी मांगता हूं। मगर युवक अभद्रता कर रहा था और गाड़ी रोकने पर रोक नहीं रहा था बल्कि अलग अलग बहाने बता रहा था।

 

 

Translate »